Kidney stone in hindi: किडनी स्टोन क्या होता है एवं इलाज क्या है?

0
100

Kidney stone सही मायने में पत्थर जैसी जटिल वस्तु से नही बनी होती है। लेकिन अगर आपको पेशाब करते समय कुछ महसूस होगा तो यह महसूस होगा कि जैसे यह पत्थर की बनी हुई है।

आमतौर पर kidney stone कर्नेल के आकार और नमक के दाने के जितनी बड़ी होती है। जब आपके शरीर में कुछ विशेष खनिज तत्व है और उन्हें उचित मात्रा में तरल पदार्थ नही मिल पा रहा है तो वह kidney stone में तब्दील हो जाती है।

ये stone भूरे या पीले, चिकने या खुरदरे इत्यादि विभिन्न रूपो में हो सकते हैं। पुरुष और महिला दोनों ही गुर्दे की पथरी (kidney stone) से पीड़ित हो सकते हैं। लेकिन पुरुषों में kidney stone की समस्या महिलाओं की तुलना में लगभग दोगुनी होती है।

लीवर सिरोसिस क्या होता है और कैसे होता है! 

 लड़कियों में पीरियड्स क्या है और क्यों आता है?

 जानिए किडनी फेलियर के लक्षण, कारण व प्रकार

Kidney स्टोन होने के कारण

गुर्दे की पथरी होने के कारण का पता लगाना कठिन होता है। क्योंकि ये कभी भी एक कारण से नही बनते हैं। अक्सर kidney stone तब बनता है जब आपके मूत्र में कुछ खनिजों की मात्रा बढ़ जाती हैं। वो खनिज कौन से होते हैं ये जानने के लिए इस खबर को आगे पढ़िए।

  • कैल्शियम
  • oxalate
  • यूरिक अम्ल

पाउडर मिक्स पेय पदार्थों को पीने से पहले जरा एक बार विचार कर ले। ये पदार्थ तरल होते हैं और जूस का आनंद देते हैं परंतु असल में ये केमिकल से बने होते हैं और पथरी जैसी समस्या को जन्म देते हैं।

यदि आप लगातार कुछ ना कुछ खाते हैं और पानी कम पीते हैं तो भी आपको पथरी की समस्या से दो चार होना पड़ सकता है।

अन्य चीजें जिनसे आपको किडनी स्टोन होने की संभावना बढ़ सकती है, उनमें शामिल हैं:

  • आपका आहार
  • दस्त (जिससे आपके शरीर में पानी की कमी हो जाती है)
  • मोटापा
  • कुछ दवाइयां
  • आनुवांशिकता

Kidney stone के प्रकार

डॉक्टर kidney stone को विभिन्न प्रकारों में विभाजित करते हैं। हालांकि यह बहुत महत्वपूर्ण है कि आपको कौन सा किडनी stone हुआ है और कौन सा इलाज चलाना है। कुछ kidney stone के प्रकार निम्नलिखित है: जैसे कि…

  • कैल्शियम पथरी: ये सबसे आम हैं। यहां तक ​​कि ऑक्सालेट्स में बहुत अधिक मात्रा में कुछ खाद्य पदार्थ खाने से, जैसे कि रुबर्ब, या विटामिन डी के असामान्य रूप से उच्च स्तर पर लेने से, इस प्रकार के होने की संभावना कई गुना तक बढ़ जाती है। यदि आप आमतौर पर उतना पानी नही पीते जितना कि आपके शरीर को आवश्यकता है या फिर आपको पसीना बहुत आता है तो इस कंडीशन में लगातार आपके शरीर से पानी का दोहन होता रहता है और आप पथरी से ग्रसित हो सकते हैं।
  • सिस्टीन पथरी: यह सबसे कम सामान्य प्रकार है। एक बार जब आपको सिस्टीन पथरी हो जाती है तो दोबारा इस पथरी के होने की संभावना आपके अंदर कई गुना तक बढ़ जाती है। वैसे अगर सरल शब्दों में कहे तो यह एक प्रकार से आनुवंशिक पथरी भी होती है म यदि आपके माता पिता में से किसी को भी यह पथरी हुई है तो संभावना है कि आप भी इससे ग्रसित होंगे, भले ही आपका खानपान एकदम बढ़िया क्यों न हो।
  • Struvite पथरी:  विशेष रूप से जब मूत्र मार्ग में किसी प्रकार का संक्रमण होता है तो उस दौरान इस पथरी का निर्माण होना शुरू हो जाता है।
  • यूरिक एसिड की पथरी: बड़ी मात्रा में मीट मांस का सेवन करने से मूत्र यूरिक एसिड का निर्माण हो जाता है और अंततः कैल्शियम के साथ या उसके बिना इस पथरी का निर्माण होता है। यह उन लोगों में अधिक होता है जो गाउट, मधुमेह और पुरानी दस्त से पीड़ित होते हैं।

Kidney stone के लक्षण

यहां तक ​​लक्षण कि बात है तो kidney stone के लक्षण तेज दर्द और पेशाब में रुकावट इसके प्रमुख लक्षण है। हालांकि ये लक्षण तब तक नहीं दिखते जब तक कि ये stone पूरी तरह तैयार नहीं हो जाते।

पथरी आपकी किडनी के अंदर मूत्राशय नली में हो सकती है। इसके लक्षण अलग अलग होते हैं और परिणाम गंभीर होते हैं। कुछ निम्नलिखित लक्षण शामिल होते हैं: जैसे कि…

  • पसलियों के नीचे या पीठ में दर्द
  • आपके कमर और पेट के निचले हिस्से में दर्द
  • पेट में अचानक असहनीय पीड़ा उत्पन्न हो जाना
  • पेशाब करने में दर्द होना
  • बार बार पेशाब जाना
  • मूत्र आसमानी, गुलाबी, लाल, या भूरे रंग का होना और उनमें से बदबू आना
  • ऐसा महसूस करना कि आपको हर समय पेशाब लगी रहती है
  • संक्रमण होने पर बुखार और ठंड लगना
  • पेशाब तेज लगना परंतु पेशाब की मात्रा बहुत कम होना

डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए

यदि आप वास्तव में बहुत बुरी दर्द का सामना कर रहे हैं, तो आपको तुरंत डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए। हालांकि पेट दर्द के अन्य कारण भी हो सकते हैं इसलिए अगर आपको पेट दर्द के साथ उपरोक्त बताए गए लक्षण दिखाई देते हैं तो तुरंत डॉक्टर से अपॉइंटमेंट ले।

Kidney stone का निदान

यदि आपको kidney stone है तो डॉक्टर कैसे जानेगा? दरअसल सबसे पहले, वह एक आपसे कुछ प्रश्न पूछेगा और आपके किडनी और मूत्र मार्ग की जांच के लिए आवश्यक टेस्ट कराएगा।

एक बार जब यह पता चल जाता है कि आपको वास्तव में kidney stone है तो डॉक्टर आपकी पेशाब को 24 घंटे के लिए लैब में रखेगा ताकि यह पता लगाया जा सके कि आखिर पथरी किस चीज की बनी हुई है।

इन सभी परिणामों से डॉक्टर को यह पता लगाने में मदद मिलेगी कि आपका इलाज कैसे करना है।

किडनी स्टोन का उपचार

यदि आपकी किडनी स्टोन शुरुआती दौर में है और छोटी है, तो आप पेशाब के रास्ते इससे छुटकारा पा सकते हैं।

डॉक्टर आपको अल्ट्रासाउंड के लिए कहेगा ताकि इसका परीक्षण किया जा सके।

यदि आपका स्टोन बड़ा हो चुका है तो यह पेशाब के रास्ते बाहर नहीं निकल पायेगा। ऐसी स्थिति में आपको असहनीय दर्द होगा। दर्द ऐसा होगा कि आपको मौत अच्छी लगने लगेगी। इन परिस्थितियों में डॉक्टर आपके स्टोन को तोड़ने के लिए निम्नलिखित तरीके अपना सकते हैं:

शॉक वेव लिथोट्रिप्सी

यह गुर्दे की पथरी के लिए सबसे आम प्रक्रिया है। इस प्रक्रिया का उपयोग करने के बाद पथरी के छोटे छोटे टुकड़े पेशाब के दौरान आसानी से शरीर से बाहर निकल जाते हैं। इसके उपचार में लगभग एक घंटे लगते हैं, और आप आमतौर पर एक घंटे बाद घर जा सकते हैं।

यूरेटेरोस्कोपी

यह प्रक्रिया गुर्दे और मूत्रवाहिनी में पथरी का इलाज करती है। आपका डॉक्टर पथरी को खोजने और निकालने के लिए पतली, लचीली मार्जिन का उपयोग करता है। आपकी त्वचा में कोई कटौती नहीं की जाती है।

सर्जरी

सर्जरी एक और तरीका है जिससे डॉक्टर गुर्दे की पथरी से छुटकारा दिलाते हैं। इस दौरान स्टोन को हटाने के लिए आपकी पीठ में और आपके गुर्दे के माध्यम से एक छोटा सा छेद करके आपरेशन किया जाता है। यदि यह प्रक्रिया की जाती है, तो आपको कई दिनों तक अस्पताल में रहना पड़ सकता है।

पथरी को रोकने का उपाय 

यदि आपको एक बार गुर्दे की पथरी हो जाती है, तो आपके ऊपर दोबारा भी पथरी का खतरा बना रहता है।  एक शोध के मुताबिक  लगभग आधे लोगों में पहली बार पथरी ठीक होकर 7 साल के भीतर दोबारा उभर आया। खास बात तो यह है कि कई लोगों ने इसका चेकअप तक नही करवाया।

ऐसा होने से रोकने के लिए, निम्नलिखित प्रयास करें:

खूब पानी पिएं: आपको हर दिन कम से कम 64 औंस पानी पीना चाहिए। उस तरल में से कुछ संतरे का रस, नींबू पानी को भी शामिल करना चाहिए।

सोडियम और नमकीन खाद्य पदार्थों का सेवन कम करें: सोडियम आपके मूत्र में कैल्शियम का स्तर बढ़ा सकते हैं। और इससे पथरी बन सकती है। यदि आप भोजन और पेय पदार्थों से प्राप्त सोडियम पर वापस कटौती करते हैं, तो यह आपके दिल की मदद करेगा और आपके रक्तचाप को कम करेगा।

पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम ले: यह निवारक कदम थोड़ा भ्रमित करने वाला हो सकता है, क्योंकि डॉक्टर आपको बताएंगे कि आपके मूत्र में कैल्शियम का उच्च स्तर (बहुत अधिक सोडियम होने के कारण) पथरी का कारण बन सकता है।

लेकिन पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम नहीं लेने से आपके मूत्र में ऑक्सालेट का स्तर बढ़ सकता है। यह रुबर्ब के साथ अन्य भोजन में पाया जाता है, जिसमें पालक, बीट्स, चोकर के गुच्छे, आलू के चिप्स और फ्रेंच फ्राइज़ शामिल हैं। और ऑक्सालेट गुर्दे की पथरी का कारण बन सकते हैं।