Heart attack solution- जानिए हार्ट अटैक से बचने के उपाय हिंदी में

0
102

आज के समय में heart attack एक गंभीर बीमारी बन चुकी हैं। यह कब किसे आ जाए इसके बारे में कुछ भी पता नहीं होता। इसलिए आज हम आपको heart attack se bachane ke upay in hindi एवं heart attack solution के बारे में बताने जा रहे हैं।

Heart attack: हार्ट अटैक क्या है

दिल का दौरा तब होता है जब हृदय तक रक्त का प्रवाह रुक जाता है। रुकावट सबसे अधिक वसा, कोलेस्ट्रॉल और अन्य पदार्थों का अधिक मात्रा में हमारे शरीर में निर्माण होने के वजह से होता है। जो हृदय (कोरोनरी धमनियों) को खिलाने वाली धमनियों में एक पट्टिका का निर्माण करते हैं।

पट्टिका (plaque) अंततः टूट जाती है और एक थक्का बनाती है। रुका हुआ रक्त प्रवाह हृदय की मांसपेशी के हिस्से को नुकसान पहुंचा सकता है या नष्ट कर सकता है।

दिल का दौरा, जिसे मायोकार्डियल इन्फ्रक्शन भी कहा जाता है, यह घातक हो सकता है, लेकिन पिछले कुछ वर्षों में उपचार में नाटकीय रूप से सुधार हुआ है। यदि आपको लगता है कि आपको दिल का दौरा पड़ सकता है, तो आपातकालीन चिकित्सा सहायता को कॉल करना महत्वपूर्ण है। आप बिना कुछ सोचे समझे डॉक्टर से आज ही सलाह ले।

Symptoms: लक्षण

 दिल के दौरे के लक्षण निम्नलिखित है 👇👇

दबाव, जकड़न, दर्द, या आपके सीने या बाहों में एक निचोड़ या दर्द की अनुभूति जो आपकी गर्दन, जबड़े या पीठ तक फैल सकती है।

मतली, अपच, नाराज़गी या पेट दर्द

साँसों की कमी

 पसीना आना

 थकान

 अठखेलियां या अचानक चक्कर आना

Heart attack solution

ऐसे लोग जिन्हें हार्ट अटैक नहीं है फिर भी उनमें ये लक्षण हैं या उनमें लक्षणों की गंभीरता समान है। कुछ लोगों को हल्का दर्द होता है; जबकि कुछ लोगों को गंभीर दर्द होता है। ऐसे लोग जिनमे कोई भी लक्षण पहले से नही दिखाई देते तो उन्हें अचानक कार्डियक अरेस्ट हो सकता है। हालाँकि, आपमें जितने अधिक लक्षण दिखाई देंगे, आपको दिल का दौरा पड़ने की संभावना उतनी ही अधिक होगी।

कुछ दिल के दौरे अचानक से आते हैं, लेकिन कई लोगों में चेतावनी के संकेत और लक्षण घंटे, दिन या सप्ताह पहले से दिखाई देने लग जाते हैं। प्रारंभिक चेतावनी सीने में दर्द या दबाव (एनजाइना) हो सकती है जो कि मेहनत के दौरान शुरू होती है और आराम करते ही राहत मिल जाती है। एनजाइना हृदय में रक्त के प्रवाह में अस्थायी कमी के कारण होता है।

डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

यदि आपको जरा भी शक है कि मुझे हार्ट अटैक आ सकता है  तो आप तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। कुछ लोग बहुत लंबा इंतजार करते हैं क्योंकि वे महत्वपूर्ण संकेतों और लक्षणों को नहीं पहचान ही नही पाते कि ये लक्षण हार्ट अटैक के है।

यदि आपको हार्ट अटैक आने लक्षण महसूस हो रहा है तो तुरंत इन steps को follow करें-

    • Call for emergency medical help. यदि आपको संदेह है कि आपको दिल का दौरा पड़ रहा है, तो संकोच न करें। तुरंत अपने स्थानीय आपातकालीन नंबर पर कॉल करें। यदि आपके पास आपातकालीन चिकित्सा सेवा पहुंच नहीं पाई है तो तुरंत पास के किसी अस्पताल में जाए। लोगों से लिफ्ट मांगने या उनसे कुछ बताने के बजाय सीधा अस्पताल पहुँचे। क्योंकि आप की स्थिति और भी खराब हो सकती है इसलिए इन सब में समय बर्बाद ना करें।
    • Take nitroglycerin: यदि आपको डॉक्टर द्वारा नाइट्रोग्लिसरीन निर्धारित किया गया है तो आपातकालीन सहायता का इंतेजार करते समय निर्देशानुसार इसका सेवन करें।
    • Take aspirin: दिल का दौरा पड़ने के दौरान एस्पिरिन लेने से आपके रक्त को थक्के से बचाने में मदद करके दिल की क्षति को कम किया जा सकता है।

एस्पिरिन हालांकि, अन्य दवाओं के साथ रिएक्शन कर सकता है, इसलिए एस्पिरिन न लें जब तक कि आपका डॉक्टर या आपातकालीन चिकित्सा कर्मी इसकी सलाह न दें।

यदि आप किसी ऐसे व्यक्ति को देखते हैं जो दिल का दौरा पड़ सकता है तो क्या करें

यदि आप किसी ऐसे व्यक्ति को देखते हैं जो बेहोश है और आपको लगता है कि दिल का दौरा पड़ रहा है, तो पहले आपातकालीन चिकित्सा सहायता के लिए कॉल करें। फिर जांचें कि क्या व्यक्ति सांस ले रहा है और उसकी नाड़ी सही चल रही है। यदि व्यक्ति सांस नहीं ले रहा है तो केवल रक्त प्रवाह जारी रखने के लिए आपको सीपीआर शुरू करना चाहिए।

Heart attack in hindi

व्यक्ति की छाती पर काफी तेज लय में तेज धक्का लगाना चाहिए – एक मिनट में लगभग 100 से 120 बार तक।

यदि आपको सीपीआर में प्रशिक्षित नहीं किया गया है, तो डॉक्टर केवल छाती को compressions करने की सलाह देते हैं। यदि आपको सीपीआर में प्रशिक्षित किया गया है, तो आप श्वासनली को खोलने और breathing के लिए जा सकते हैं।

Causes: कारण

Heart attack तब होता है जब आपकी कोरोनरी धमनियों में से एक या उससे अधिक अवरुद्ध हो जाती हैं। समय के साथ, एक कोरोनरी धमनी कोलेस्ट्रॉल (एथेरोस्क्लेरोसिस) सहित विभिन्न पदार्थों के निर्माण से पतली हो सकती है। यह स्थिति, कोरोनरी धमनी की बीमारी के रूप में जानी जाती है और ज्यादातर दिल के दौरे का कारण बनती है।

Heart attack के दौरान, इन टुकड़ो में से एक कोलेस्ट्रॉल को तोड़ देता है और रक्त में कोलेस्ट्रॉल और अन्य पदार्थों को फैला देता है। जिससे रक्त जमकर थक्का बनाता है। यदि काफी बड़ा है, तो क्लॉट कोरोनरी धमनी के माध्यम से रक्त के प्रवाह को रोक देता है, जिससे हृदय को ऑक्सीजन और पोषक तत्वों (इस्किमिया) की कमी हो जाती है।

दिल के दौरे का एक अन्य कारण कोरोनरी धमनी की ऐंठन है जो हृदय की मांसपेशियों के भाग में रक्त के प्रवाह को बंद कर देता है। तंबाकू और अवैध दवाओं का उपयोग करना, जैसे कोकीन, जीवन के लिए खतरा पैदा कर सकता है।

Also read:-

Tummy fat: पेट की चर्बी घटाने की 10 बेहतरीन एक्सरसाइज

Heart attack: हार्ट अटैक से खुद को कैसे बचाए

about piles in hindi | जानिए आखिर क्या है बवासीर

Risk factors: जोखिम

कुछ कारक एथेरोस्क्लेरोसिस के अवांछित बिल्डअप में योगदान करते हैं जो आपके पूरे शरीर में धमनियों को प्रभावित करता है। आप पहली बार या दूसरी बार दिल का दौरा पड़ने की संभावना को कम करने के लिए इनमें से कई जोखिम कारकों में सुधार करके जोखिम से मुक्त हो सकते हैं। नीचे हम कुछ heart attack se bachane ke upay in hindi एवं heart attack solution के बारे में बताने जा रहे हैं।

Heart attack risk factors include 👇👇
    • उम्र:  45 वर्ष या उससे अधिक उम्र की महिलाओं और 55 वर्ष या उससे अधिक उम्र के पुरुषों में दिल का दौरा पड़ने की संभावना अधिक होती है।

Heart attack in hindi

    • नशीले पदार्थ: इसमें धूम्रपान (तम्बाकू) और लंबे समय तक ड्रग्स का इस्तेमाल करना शामिल हो सकता है। साथ ही अल्कोहल का सेवन भी हार्ट अटैक को बुलावा देता है।
    • हाई ब्लड प्रेशर: समय के साथ, उच्च रक्तचाप आपके दिल को चारा देेंने वाली धमनियों को नुकसान पहुंचा सकता है। उच्च रक्तचाप अन्य स्थितियों के साथ होता है, जैसे मोटापा, उच्च कोलेस्ट्रॉल या मधुमेह और यह हार्ट अटैक के जोखिम और भी अधिक बढ़ा देता है।
    • ट्राइग्लिसराइड्स लेवल: low-density वाले लिपोप्रोटीन (एलडीएल) कोलेस्ट्रॉल (“खराब” कोलेस्ट्रॉल) का स्तर उच्च होने पर धमनियों के पतले होने की सबसे अधिक संभावना है। ट्राइग्लिसराइड्स का एक उच्च स्तर आपके दिल के दौरे के जोखिम को भी बढ़ाता है। हालांकि, high-density वाले लिपोप्रोटीन (एचडीएल) कोलेस्ट्रॉल (“अच्छा” कोलेस्ट्रॉल) का उच्च स्तर आपके दिल के दौरे के जोखिम को कम करता है।
    • मोटापा: मोटापा high blood cholesterol levels, high triglyceride levels, high blood pressure और diabetes से जुड़ा हुआ है। हालांकि, आप शरीर के वजन का सिर्फ 10 प्रतिशत कम करके हार्ट अटैक के जोखिम को कम कर सकते है।
    • डायबिटीज: आपके अग्न्याशय (इंसुलिन) द्वारा स्रावित एक हार्मोन का पर्याप्त उत्पादन नहीं करना या इंसुलिन का ठीक से जवाब न देना आपके शरीर के रक्त sugar levels में वृद्धि का कारण बनता है, जिससे आपके दिल का दौरा पड़ने का खतरा बढ़ जाता है।
    • उपापचयी लक्षण: यह तब होता है जब आपको मोटापा, high blood pressure और high blood sugar होता है। मेटाबॉलिक सिंड्रोम होने से आपको दिल की बीमारी होने की संभावना दोगुनी हो जाती है।
    • हार्ट अटैक का आनुवंशिक होना: यदि आपके भाई-बहन, माता-पिता या दादा-दादी को दिल का दौरा पड़ा है (पुरुष रिश्तेदारों के लिए 55 वर्ष और महिला रिश्तेदारों के लिए 65 वर्ष की आयु तक), तो आपको भी हार्ट अटैक आने का अधिक जोखिम हो सकता है।
    • शारीरिक गतिविधि का अभाव: शारीरिक रूप से श्रम का निष्क्रिय होना उच्च रक्त कोलेस्ट्रॉल के स्तर और मोटापे में योगदान देता है। जो लोग नियमित रूप से व्यायाम करते हैं, उनके हृदय की फिटनेस बेहतर होती है, जिसमें निम्न रक्तचाप भी शामिल है।
    • तनाव: यदि आप किसी बात को लेकर तनाव में रहते हैं तो आपको हार्ट अटैक आने की संभावना कई गुना तक बढ़ जाती हैं।
    • अवैध दवा का उपयोग: उत्तेजक दवाओं का उपयोग करना, जैसे कोकीन या एम्फ़ैटेमिन, आपकी कोरोनरी धमनियों के ऐंठन को ट्रिगर कर सकता है जो दिल का दौरा पड़ने का कारण बन सकता है।
    • प्रीक्लेम्पसिया का इतिहास: यह स्थिति गर्भावस्था के दौरान उच्च रक्तचाप का कारण बनती है और हृदय रोग यानी कि हार्ट अटैक के जोखिम को बढ़ाती है।

Complications: जटिलता

अटैक के दौरान जटिलता अक्सर आपके दिल को हुए नुकसान से संबंधित होती है, जिसमे निम्नलिखित कारण हो सकते हैं-

Heart attack in hindi

असामान्य हृदय ताल (अतालता): इलेक्ट्रिकल “शॉर्ट सर्किट” लगने के परिणामस्वरूप असामान्य हृदय ताल होते हैं, जिनमें से कुछ गंभीर, यहां तक ​​कि घातक भी हो सकते हैं।

ह्रदय का रुक जाना: एक अटैक से हृदय के ऊतकों को इतना नुकसान हो सकता है कि शेष हृदय की मांसपेशी आपके हृदय से पर्याप्त रक्त पंप नहीं कर सकती है।

अचानक हृदय की गति बंद:  चेतावनी के बिना, आपका दिल एक विद्युत शॉट लगने के कारण बंद हो जाता है जो एक अतालता का कारण बनता है। हार्ट अटैक से अचानक कार्डियक अरेस्ट होने का खतरा बढ़ जाता है, जो तत्काल इलाज के बिना घातक हो सकता है।

Prevention: निवारण

दिल के दौरे को रोकने के लिए एवं heart attack solution के लिए कदम उठाने में कभी देर नहीं करना चाहिए। चाहे भले ही आप पहले से पूरी तरह स्वस्थ हो। यहाँ दिल का दौरा रोकने के तरीके दिए गए हैं।

Medicine: दवाइयाँ लेने से आपके दिल के दौरे का जोखिम कम हो सकता है और आपके क्षतिग्रस्त दिल को बेहतर ढंग से काम करने में मदद मिल सकती है। अपने चिकित्सक द्वारा बताई गई चीज़ों को लेना जारी रखें, और अपने चिकित्सक से पूछें कि आपको कितनी बार निगरानी करने की आवश्यकता है।

Lifestyle factors: एक स्वस्थ वजन के साथ शरीर पर नियंत्रण बनाये रखें।धूम्रपान न करें, नियमित रूप से व्यायाम करें, तनाव और नियंत्रण की स्थिति का प्रबंधन करें। उच्च रक्तचाप, उच्च कोलेस्ट्रॉल और मधुमेह केे वजह से दिल का दौरा पड़ सकता है।

Conclusion

आशा करते हैं कि आपको हमारे द्वारा प्रदान की गई जानकारी ( heart attack se bachane ke upay in hindi ) से कुछ सीख जरूर मिली होगी। अगर आपको यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने मित्रों के सथ सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें, अपना और अपनों का ख्याल जरूर रखें।